Monday, 23 December 2013

विध्या प्राप्ति का दिव्य शाबर मंत्र -

प्यारे मित्रो मुझे काफी सारे बन्धुओ के फोन आये सब ने यही कहा के आप बच्चों के बारे मे भी कुछ जरूर बताएं

तो आज प्यारे दोस्तो मैं उन बच्चों के बारे मे मंत्र लिख रहा हूँ जो किसी भी कारण से पढ़ाई मे पीच्छे रह जाते हों या

पढ़ाई मे मन ना लगता हो तो ये प्रयोग करने से चमत्‍कार देखे आपके बच्चे का मन भी पढ़ाई मे लगने लगेगा ओर उसके नॅमबर प्रतिशत भी बढ़ जायेगी।.

विध्या प्राप्ति का दिव्य शाबर मंत्र -

ओम नमो देवी कामाख्या त्रिशूल खड्ग हस्त पाधा पाती
गरुड़ सर्व लखि तू प्रीतये
समागम तत्व चिंतामणि नरसिंह चल चल तीन कोटि
कात्यानी तालव प्रसाद के ओम ह्रीं ह्रीं क्रूं चालिया चालिया स्वाहा.

इस मंत्र का 21 बार जाप करके 4 पत्ते तुलसी के आपने बच्चे को हर रोज दीजिये ओर चमत्‍कार देखिये

यदि हो स्के हमारे यंहा से 15 का दुर्गा यंत्र मंगवा कर धारण करवा देवें तो ओर भी उत्तम परिणाम मिलेगा

विशेष बच्चे को कभी भी दक्षिण की तरफ पाँव करके मत सोने दीजिये।..

जय शंकर

No comments:

Post a Comment