Sunday, 13 July 2014

शक्ति शाली सुलेमानी मंत्र ( कलाम )

जो सज्जन मुस्लिम पीर पैगम्बरों की पूजा करते है और चोकी वैगरह लगते है 
उनके लिये बहुत ही शक्ति शाली सुलेमानी मंत्र ( कलाम ) दे रहा हू 
पीर कोई भी हो इस कलाम के प्रभाव से पीर आपके हर कार्य मे पहले कही अधिक सहायता करेगा 
आपके काम आचानक होने लगेंगे . अपने भीतर आप एक दिव्य अहसास का अनुभव करेंगे .

ला इलाह इल्लिल्लाह हज़रत वीर की सल्तनत को सलाम 
याहिंसार सार सार जिन्ना देव परी नवस्क्न्फ़ार एक खाये दूसरे को फार
चहुँ ओर अमिया पसार मलायक अस चार दुहाई दस्तखे जिब्राइल
बाईं वे खई भि काइल दस्न् दस्न् हुसैन पीठ ख़ड़े खेई आमिल
कलेजे रखे इजराइल
दुहाई मुहम्मद अलीलाह इलाह की कंगुर लिल्लाह की खाई
हज़रत पैगम्बर अली की चौकी नख्त मुहम्मद रसूलिल्लाह

इस कलाम का हर रोज पस्चिम की और मुह करके पाठ करे शुक्रवार से शुरू करे
बस केवल 10 मिनट लोहबान जलता रहे अगरबती भी लगा सकते है कोई सुगंधित इत्र का च्छीड़काव जरूर करें विशेष कोई नियम नहीं है कुछ ही दिनो मे चमत्‍कार होने लगेगा!
मंत्र के साथ कोई च्छेड च्छाड़ ना करें .विश्वास बनाये रखें

1 comment: